• जेनेरिक दवाओं पर बिक्री मूल्य अंकित कराये सरकार - भवानजी

    मुम्बई: वरिष्ठ भाजपा नेता और मुम्बई के पूर्व उप-महापौर श्री बाबू भाई भवानजी ने केंद्र सरकार से मांग की है कि वह जेनेरिक दवाओं पर उनका बिक्री मूल्य अंकित कराये ताकि छूट का लाभ आम जनता और ज़रूरत मंद लोगों तक पहुंच सके।


    आज दादर में आयोजित एक जागरूकता शिविर में बोलते हुए श्री भवानजी ने कहा कि जेनेरिक दवाएं अन्य दवाओं की अपेक्षा काफी सस्ती होती हैं और यदि लोग इलाज के लिए इन दवाओं का इस्तेमाल करें तो इलाज काफी सस्ता हो सकता है लेकिन पर्याप्त जागरूकता न होने के कारण इस योजना का फायदा दवा बिक्रेता उठा रहे हैं और गरीबों तथा आम लोगों तक इस का फायदा नही पहुंच पा रहा है उन्होंने कहा कि जब कोई डॉक्टर किसी मरीज को कोई जेनेरिक दवा लिखता है और मरीज़ दुकान से वो दावा मांगता है तो दुकानदार वो दवा न होने का बहाना बनाता है और उसे उससे मिलती जुलती दूसरी जेनेरिक दवा दे देता है और मरीज़ से दवा का पूरा दाम वसूल लेता है। पूछने पर मरीज़ को बताया जाता है कि जो सस्ती दवा उसने मांगी है वह दुकान में नही है और जो दवा उसने दी है उस पर छूट नही है।

    पर्याप्त जागरूकता के अभाव में मरीज़ फंस जाता है और वह जेनेरिक दवा खरीदने के बाद भी उस पर छूट नही पाता है। इस समस्या का एक ही समाधान है कि सभी जेनेरिक दवाओं पर उनका बिक्री मूल्य अंकित किया जाए ताकि दुकानदार मरीजों को चूना न लगा सकें। यदि केंद्र सरकार यह चाहती है कि लोगों को सस्ती दवाएं मिले तो उसे इस योजना पर तत्काल अमल करना होगा अन्यथा गरीबों को इस योजना का कोई लाभ नही मिलेगा और छूट का पैसा भी दुकानदारों की जेब मे चला जायेगा।

    श्री भवानजी ने सरकार से मांग की है कि वह स्वास्थ्य विभाग को और चौकाश और गतिशील बनाये। ताकि डाक्टरों और दवा कंपनियों की लूट को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि भारत मे दवाओं का बाजार बहुत बड़ा है और उस पर सरकार का प्रभावी नियंत्रण नही है जिससे आम जनता डॉक्टरों और दवा कंपनियों की लूट का शिकार हो रही है।

    No comments