• धूमधाम से मनाया गया क्षीरसागर का जन्मदिन

    मुंबई : सुप्रसिद्ध समाजसेवी और अखिल मानवाधिकार आर्गनाइजेशन के राष्ट्रीय  अध्यक्ष  नारायण क्षीरसागर के ४४ वें  जन्मदिन पर गुरुवार को  पूरे राज्य में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गए  | संगठन के सूत्रों ने बताया कि इस अवसर पर  मुंबई नासिक , ठाणे ,कल्याण, वर्धा , अमरावती और यवतमाल सहित राज्य के तमाम हिस्सों में अनेक  जनोपयोगी कार्यक्रमों का आयोजन किया गया  |कुछ जगहों पर संगठन के पदाधिकारियों ने केक काटकर अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष का जन्मदिन मनाया तो कुछ जगहों पर विविध प्रकार के शिविरों का आयोजन किया गया | सुबह से ही  कल्याण स्थित उनके घर पर उन्हें बधाई देनेवालों का ताँता लगा रहा  |
           




    मुख्य कार्यक्रम  कल्याण के कोलसेवाडी इलाके में आयोजित किया गया है  जिसमे प्रमुख पदाधिकारियों और उनसे जुड़े लोगों  ने उनसे मिलकर  उन्हें अपनी शुभकामनाये दीं  |महाराष्ट्र के वर्धा जिले के हिंगनघाट तालुका में  सन १९७२ को जन्मे श्री क्षीरसागर की शिक्षा दीक्षा वर्धा में ही हुई | व्यवसाय के सिलसिले में वे २५ वर्ष पहले मुंबई आये | श्री क्षीरसागर अत्यंत दयालु किस्म के व्यक्ति हैं |समाजसेवा तथा गरीबो और कमजोरो  को न्याय दिलाने तथा उनकी जिंदगी को वेहतर बनाने की भावना उनमे बचपने से ही थी | इसलिए व्यवसाय करते करते वे समाजसेवा की तरफ मुड़ते चले गए |इस बीच जिंदगी में अनेक उतार चढ़ाव आये  जिससे उनका व्यक्तित्व निखरता चला गया और उन्होंने अपने को पूरी तरह से समाजसेवा  के कार्य में झोंक दिया | अखिल मानवाधिकार आर्गनाइजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में  अब वे लगातार लोगों के हितों के काम में लगे रहते हैं |आज एक विशेष बातचीत में श्री क्षीरसागर ने कहाकि अभी देश में लोकतंत्र जमीन तक नहीं पहुचा है | आज भी गरीब को न्याय नहीं मिलता है | अब उनकी जिन्दगी का मकसद आम लोगो को न्याय दिलाना है | जब  तक समाज में आखिरी पायदान पर खड़े आदमी को आसानी से न्याय नहीं मिलता उनका संघर्ष जारी रहेगा |

    No comments