• गुजरात में गैर गुजरातियों पर हमला करवाकर मोदी को उत्तरप्रदेश , बिहार और गुजरात में कमजोर करना चाहती है कांग्रेस : भवानजी

    मुम्बई : वरिष्ठ भाजपा नेता और मुम्बई के पूर्व उपमहापौर श्री बाबूभाई भवानजी ने कहाहै कि गुजरात में गैर गुजरातियों पर हमले कराकर कोंग्रेस प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को उत्तरप्रदेश , बिहार व् गुजरात में कमजोर करना चाहती है ।
    श्री भवानजी ने आज एक बयान में कहाकि  कांग्रेस गुजरात में और पूरे देश में फिर से वर्ग संघर्ष की साम्यवादी नीति को लागू कर रही है और इसमें कोई संदेह नहीं है कि राहुल गांधी के निकट के वामपंथी ही ऐसे वर्ग संघर्ष के पीछे है। 2015 में पाटीदार आंदोलन, फिर दलित आंदोलन और फिर ओबीसी आंदोलन जन्मा  ।इस तीनों आंदोलनों का उद्देश्य एक ही था बीजेपी को पाटीदार दलित और ओबीसी के मतों से वंचित करना और पूरे भारत में ऐसा स्थापित करना कि गुजरात का विकास का मॉडल जिसके दम पर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री चुन के आए और बहुमत से सरकार बनाई वह मॉडल पूरी तरह से फेल है।

    उन्होंने कहाकि जब   तीनों आंदोलन के पीछे कांग्रेस का हाथ एक्सपोज हो गया तो कांग्रेस ने एक नई रणनीति आजमाई। कांग्रेस के विधायक अल्पेश ठाकोर को बिहार कांग्रेस का सह प्रभारी बनाया गया और बीजेपी को 2014 में उत्तर प्रदेश और बिहार में से काफी सीटें मिली थी तो उसको तोड़ने के लिए और गुजरात में से उद्योग निकल जाए इसलिए गुजरात में एक बच्ची पर बलात्कार की जघन्य घटना को आधार बनाकर गुजरात में रह रहे नॉन गुजराती पर हमले अल्पेश ठाकोर ने शुरू करवाये।

    * श्री भवानजी ने कहाकि 29 सितंबर को फेसबुक लाइव करके अल्पेश ठाकुर ने साफ चेतावनी दी कि बलात्कारी को अगर ठाकुर सेना के हाथ में सौंप दिया होता तो उसका हिसाब हम कर देते इसका मतलब साफ है कि जो हमले ठाकुर सेना के लोग कर रहे इसके पीछे अल्पेश ठाकुर और कांग्रेस ही है।

     उन्होंने कहाकि  गुजरात में बीजेपी को मत देने वाले उत्तर प्रदेश और बिहार से आए हुए मजदूर लोग हैं जो यहां पर आकर धंधा रोजगारी कमाते हैं और पिछले लोकसभा चुनाव में उन्होंने अपने अपने गांव जाकर नरेंद्र मोदी के समर्थन में प्रचार भी किया था तो गुजरात में बीजेपी को नॉन गुजराती के मत ना मिले तथा उत्तर प्रदेश और बिहार जो कि लोकसभा की दृष्टि से सबसे बड़े राज्य है उसमें भी बीजेपी को मत ना मिले यह चाल कांग्रेस द्वारा अल्पेश ठाकोर के कंधे पर बंदूक रखकर चली जा रही है इसका तीसरा मकसद यह भी है कि अगर गुजरात में से उत्तर प्रदेश और बिहार के मज़दूर चले जाएंगे तो गुजरात के उद्योग ही ठप हो जाएंगे। उन्होंने लोगो से अपील की है कि वे सावधान रहें और देश विरोधियों के घातक षड्यंत्रों का पर्दाफाश करें ।

    No comments