• स्कूलों में नैतिक शिक्षा को बढ़ावा देना ज़रूरी : भवानजी।

    मुंबई भाजपा हॉकर्स यूनिट के अध्यक्ष और मुम्बई के पूर्व उपमहापौर श्री बाबूभाई भवानजी ने कहा है कि स्कूलों में नैतिक शिक्षा को बढ़ावा दिया जाना जरूरी है ताकि बच्चों में मानवीय गुणों का विकास हो और वे देश के ज़िम्मेदार नागरिक बन सकें। श्री भवानजी शुक्रवार को दादर पूर्व में हॉकर्स यूनिट द्वारा आयोजित नोटबुक वितरण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आज बच्चों के अंक पर कम ध्यान देने और उनके आचरण पर अधिक ध्यान देने की ज़रूरत है।

    स्कूलों में मूल्य शिक्षण के ऐसे पाठ्यक्रम बनाये जाने चाहिए जिससे बच्चों में दया ,करुणा, प्रेम, सहयोग, भाईचारा, अनुशासन, राष्ट्रप्रेम, समाजसेवा, जैसे गुणों का विकास हो और उनमें स्वार्थ, लालच जैसी भावनाएं समाप्त हों। उन्होंने कहा कि आज पालकों का यह धर्म बनता है कि वे बच्चों के मानवीय गुणों के विकास पर भी पर्याप्त ध्यान दें।

    आज स्कूल से लौटने पर उनसे यह पूछा जाना चाहिए कि आज उन्होंने कौनसा अच्छा काम किया है? किसकी मदद की? ऐसा कौनसा काम किया जिससे देश और समाज को लाभ होने वाला है? उनसे प्रतिदिन मानवीय गुणों के विकास पर बात करनी चाहिए । अगर पालक अंक के साथ साथ बच्चों के आचरण पर भी बात करेंगे तो उनका बौद्धिक विकास तो होगा ही साथ ही साथ मानवीय गुणों का भी विकास होगा और ये बच्चे आगे चलकर समाज के ज़िम्मेदार नागरिक बनेंगे और देश तमाम समस्याओं से अपने आप मुक्त हो जाएगा।
    स्कूलों में बच्चों को सिखाया जाना चाहिए कि वे अपने माँ-बाप व परिजनों का आदर करें। इससे परिवार और समाज में बढ़ रही विखंडन की समस्या भी हल हो जाएगी। उन्होंने कहा कि कई स्कूलों में मूल्य शिक्षण को ज़्यादा अहमियत नही दी जाती जिससे समस्या बढ़ रही है। स्कूलों को अपने इस नज़रिये में परिवर्तन लाना चाहिए ।

    सरकार को भी मूल्य शिक्षण पर गंभीरता से अमल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज के सभी ज़िम्मेदार लोगो का यह धर्म है कि वे शिक्षा के प्रचार-प्रसार में मदद करें और यह ध्यान दे कि कोई बच्चा धन के अभाव में शिक्षा से वंचित न हो। इस अवसर पर हजारों छात्रों को अल्प दर पर नोटबुक उपलब्ध कराई गई।

    समारोह में सुरेश दुबे, जितेंद्र गुप्ता, जयंती पटेल, रविशंकर मौर्या, श्री मती रजनी शाव, सुनीता शांताराम, राजेन्द्र प्रसाद शुक्ल, लक्षमण गुरुव, संतोष पायगुडे, अंकुश, मनोज, बद्रीप्रसाद गुप्ता, सुनील गोसर, जितेंद्र सालुंके, धीरज गोसर, जगदीश पटेल, कमल मल्होत्रा, संतोष गुप्ता, महेश सुर्वे, श्री मती मनीषा सोलंकी आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। इस कार्यक्रम का आयोजन श्री अमित पटेल के सौजन्य से किया गया था। 


    No comments