• आरजू ने दिया ५ लाख में पक्का घर

    मुंबई : इन्सान यदि ठान ले तो क्या नहीं कर सकता है? वह असंभव को भी संभव बना सकता है |

    मुंबई की आरजू संस्था ने आज खरबाओ स्टेशन के पास ५ लाख की कीमत में खरीददारों को घर की चाभी सौंपकर आम आदमी के अपने घर के सपने को जगाने का काम किया है |


    एफोर्डेबल हाऊसिंग के लिए काम करने वाली  संस्था आरजू ने खरबाओ स्टेशन के पास (दिवा -वसई लाइन ) बने फ्लैटों की चाभी जहाँ खरीददारों को सौंपी वहीँ दूसरे चरण में बनेने वाली इमारतों का भूमिपूजन भी किया |

    संस्था ने वन रूम किचन का फ़्लैट ५ लाख में तथा वन बीएचके का फ़्लैट (३०० वर्ग फुट कारपेट एरिया ) ६ लाख में उपलब्ध कराया है |

    इतना सस्ता घर पाने के लिए आरजू के दादर कार्यालय पर खरीददारों की भीड़ उमड़ पडी है |चाभी वितरण  समारोह में बोलते हुए मुंबई के पूर्व उपमहापौर बाबुभाई भवान जी ने कहाकि वे स्व . बालासाहब ठाकरे व पीएम मोदी के सपने को साकार करेंगे और मुंबई के हर गरीब को घर दिलाना तथा मुंबई को झोपड़ा मुक्त करना अब उनका प्रमुख लक्ष्य है|

    भवानजी ने कहाकि आरजू ने जो अभियान शुरू किया है उससे अब मुंबई के  कोई भी गरीब बेघर नहीं रहेगा | सबको नाममात्र की कीमत पर घर मिल जायेगा | उन्होंने केंद्र और राज्य सरकारों से अपील की कि वे आरजू जैसी संस्थाओं को प्रोत्साहित करें ताकि हर गरीब के सर पर छत हो सके.

    उन्होंने कहाकि गरीबों के लिए बनी इमारतों पर रजिस्ट्रेशन शुल्क व जीएसटी पूरी तरह ख़त्म की जाये ताकि गरीबों को घर लेने में कोई परेशlनी ना हो |


    इस अवसर पर आरजू के संस्थापक अध्यक्ष राजेंद्र मेहता ने कहाकि जब हमने ५ लाख में घर देने की बात की तो लोग हमारा मजाक उडाते थे, आज हमने अपने वादे को पूरा कर दिखाया |हमने ५ लाख में पक्का घर दे दिया है |यदि सरकार सहयोग करे तो हम मुंबई में भी  नाममात्र की कीमत पर घर दे सकते हैं |

    उन्होंने आगे कहाकि बाबूभाई भवान जी के संस्था से जुड़ने से उनके काम में तेजी आई है |संस्था को उनके अनुभव का बहुत लाभ मिल रहा है |आज घर पाने वालों ने कहाकि की हमने कभी सोचा भी नहीं था की हमारे पास  भी कभी घर होगा |यह सपना आरजू ने पूरा किया |


    गौरतलब है की आरजू  संस्था ने मुंबई के गरीबों को नाममात्र की कीमत पर पक्का घर देने की महत्वाकांक्षी योजना बनाई है |इस योजना के तहत विरार और कल्याण के आगे लोकल रेल  स्टेशनों के पास बहुमंजिली इमारतें बनाई जायेंगी जिसमे आम लोगों को ६ लाख में वन बीएचके (३०० वर्ग फुट कारपेट एरिया )का घर उपलब्ध कराया जायेगा |

    इन फ्लैटों का बाज़ार भाव १२ से १४ लाख है |इसी प्रकार मुंबई और उपनगरों में झोपडपट्टियों का एसआरए पद्धति से विकास करके झोपडावासियों को मुफ्त में घर दिया जायेगा |तथा विकसित जमींन पर बने अतिरिक्त घरों को आम लोगो को २५ से ३० लाख में(३०० वर्ग फुट कापेट एरिया ) दिया जायेगा |इन फ्लैटों का बजार भाव ६० से ७० लाख है |

    पात्र लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के  तहत २.६७ लाख का अनुदान भी मिलेगा |इन फ्लैटों का रजिस्ट्रेशन शुल्क मात्र एक हजार रुपये है। इस योजना में शामिल होने के इच्छुक लोगों के पास ३ साल का आयकर रिटर्न का दस्तावेज  होना जरुरी है।

     खरीददारों के पास फ़्लैट की कुल कीमत का २० प्रतिशत राशि का होना जरुरी है। बाकी राशि बैंकों से लोन के रूप में मिल जायेगी।अधिक जानकारी के लिए मो. नं . 8104793675 पर  सम्पर्क कर सकते हैं ।

    No comments