• यूपी बिहार के प्रवासियों की रेलयात्रा जानवरों से भी बदतर - भवानजी

    मुंबई : वरिष्ठ भाजपा नेता और मुंबई के पूर्व उप महापौर बाबूभाई भवान जी ने कहा है कि मुंबई में रहने वाले यूपी बिहार के प्रवासियों की रेल यात्रा बहुत ही दर्दनाक है .अपने गाँव जाने और वहां से मुंबई आने  के लिए आम लोगों को जानवरों से भी बदतर हालत में रेल यात्रा करनी पड़ती है .





    श्री भवान जी ने आज यहाँ बताया कि हाल ही में संपन्न लोक्साभा चुनाव के दौरान वे अपनी टीम के साथ रेल से अमेठी गए थे .इस दौरान उन्होंने रेल यात्रियों की जो हालत देखी उससे किसी भी संवेदनशील व्यक्ति के रोंगटे खड़े हो जायेंगे .उन्होंने बताया कि उस यात्रा के दौरान उन्होंने कई ट्रेनों का जायजा लिया . इन ट्रेनों की जनरल बोगी और स्लीपर क्लास की हालत बहुत दयनीय थी .

    भवानजी ने बताया कि जनरल बोगी में बैठना तो दूर ,लोगों को खड़े रहने तक की जगह नहीं मिलती .दर्जनों लोग तो बाथरूम में  बैठे और सोये रहते हैं .इस दौरान लोग संडास और पेशाब के लिए भी तरस जाते हैं .अनेक लोगों को अपना सामान सिर पर रखकर २४ - २४ घंटे खड़ा रहना पड़ता है .इस दौरान यात्रियों को पुलिस तथा हिजड़ों की लूट का भी शिकार होना पड़ता है .पुलिस वाले पैसा लेकर जबरन डिब्बे में अपने लोगों को घुसाते हैं तो हिंजड़े पैसे वसूलते समय यात्रियों की पिटाई भी करते हैं .इस डिब्बे में गंदगी का साम्राज्य रहता है और लोगों को शुद्ध हवा भी नहीं मिल पाती है .महिलाओं और नवजात शिशुओं का दर्द अकल्पनीय है .गर्मी के मारे नवजात शिशु रास्ते भर चिल्लाते रहते हैं .कभी भी इन डिब्बों की यात्रा लोगो के लिए जानलेवा साबित हो सकती है .
    भवानजी ने बताया की  इसी प्रकार स्लीपर क्लास में भी जनरल बोगी की ही तरह अनगिनत यात्री घुस जाते हैं .रास्ते ( पैसेज )जाम रहते हैं और लोगों को यहाँ भी संडास पेशाब की दिक्कत होती है .इन यात्रियों की हालत देखने पर विकास की जमीनी हकीकत समझ में आने लगती है .और ऐसा लगता है की गरीबों के लिये अभी भी  बहुत कुछ किया जाना बाकी है .अभी तक हम गरीबों को मूलभूत सुविधा भी नहीं दे सके हैं .
    उन्होंने ने कहाकि सरकार का बुलेट ट्रेन चलाने का फैसला स्वागत योग्य हैं लेकिन सरकार को जमीनी हकीकत को समझना चाहिए तथा कम से कम इतनी सुविधा तो उपलब्ध ही करा देनी चाहिए की गरीब और आम लोग कम से कम बैठकर अपने मुल्क जा सकें .उन्होंने संवेदनशील प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कार्यकुशल रेल मंत्री पियूष गोयल को एक पत्र भेजकर उनसे अनुरोध किया है कि वे मुंबई से यूपी बिहार जाने वाले यात्रियों की दर्दनाक स्थिति का जायजा लें और उनके लिए पर्याप्त संख्या में जन साधारण गाड़ियाँ चलाकर उनकी रेल यात्रा को आसान बनायें ताकि उन्हें भी देश में संवेदनशील सरकार होने का आभास हो सके .

    No comments